जेल से छूटकर सलमान पहुंचे घर, प्रशंसकों ने पटाखे फोड़ मनाया जश्न

  • uploaded on : 2018-04-07
जेल से छूटकर सलमान पहुंचे घर, प्रशंसकों ने पटाखे फोड़ मनाया जश्न
 

मुंबई काला हिरण शिकार केस में जमानत मिलने के बाद सलमान खान शनिवार को जोधपुर जेल से रिहा होकर मुंबई पहुंच गए। मुंबई एयरपोर्ट से लेकर उनके घर तक सड़क पर उनके प्रशंसकों ने उनका स्वागत किया। सलमान को देखने के लिए मुंबई की सड़कों पर सैकड़ों की तादात में प्रशंसक उतर आए। उनके घर के बाहर भी फैंस जमा हो गए। प्रशंसकों ने सलमान के पहुंचते ही आतिशबाजी करते हुए जश्न मनाया। सलमान ने भी अपने परिजनों के साथ घर की बालकनी पर आकर हाथ हिलाते हुए प्रशंसकों का आभार जताया।
सलमान ने इस दौरान हाथ जोड़कर अपने फैंस का शुक्रिया अदा किया। सलमान के साथ उनके माता-पिता भी बालकनी पर खड़े रहे। सलमान एक छोटे बच्चे को गोद में लेकर अपने चिर-परिचित अंदाज में आए। हिट ऐंड रन केस में भी उनका यह अंदाज दिखा था। इस दौरान वह काफी भावुक नजर आ रहे थे। मुंबई में गैलक्सी अपार्टमेंट स्थित सलमान के घर के बाहर इकट्ठा समर्थकों ने उनके घर पहुंचने पर जमकर आतिशबाजी की। फैंस ने पटाखे फोड़कर सलमान की रिहाई को सेलिब्रेट किया। सलमान जोधपुर जेल से शाम साढ़े पांच बजे निकले और सीधे एयरपोर्ट पहुंचे। यहां से एक चार्टर्ड विमान से शाम पौने आठ बजे वह मुंबई एयरपोर्ट पहुंचे। घर के बाहर फैंस के हुजूम को देखते हुए इस दौरान ट्रैफिक को वनवे किया गया। 
इससे पहले शनिवार को जमानत देते हुए जोधपुर सेशंस कोर्ट ने कहा कि 7 मई को सलमान को फिर से कोर्ट के सामने पेश होना होगा। सलमान को यह भी निर्देश दिए गए हैं कि बिना कोर्ट की इजाजत के वह देश छोड़कर ना जाएं। सलमान को 25-25 हजार रुपये के दो बॉन्ड भरने के बाद जमानत दी गई। 
जमानत मिलने के बाद सलमान एक चार्टर्ड विमान से मुंबई के लिए रवाना हुए। इससे पहले सुरक्षा कारणों को ध्यान में रखते हुए जेल प्रशासन ने सलमान को ले जाने वाली गाड़ी को जेल के अंदर ले जाने की भी अनुमति दी थी। रिहाई से पहले जेल परिसर में उनकी दोनों बहनें अलवीरा और अर्पिता भी पहुंचीं। वहीं उनके बॉडीगार्ड शेरा भी कोर्ट में सुनवाई से लेकर जेल से रिहाई तक लगातार नजर आए। 
शुक्रवार शाम को राजस्थान सरकार ने 87 जजों का ट्रांसफर कर दिया था। इनमें शुक्रवार को सलमान की बेल अर्जी पर सुनवाई करने वाले जज रविंद्र कुमार जोशी भी शामिल थे। हालांकि किसी जज के ट्रांसफर के फैसले के अमल में एक सप्ताह से 10 दिन तक का वक्त लगता है। इसलिए रविंद्र कुमार जोशी ने ही सलमान की जमानत याचिका पर सुनवाई की।