चीन-पाक सेना के बीच संबंध से क्षेत्रीय शांति बहाल रखने में मदद मिलेगी : पीएलए

  • uploaded on : 2018-03-30 21:38:52
चीन-पाक सेना के बीच संबंध से क्षेत्रीय शांति बहाल रखने में मदद मिलेगी : पीएलए
 

नई दिल्ली पीपुल्स लिबरेशन आर्मी( पीएलए)  ने आज कहा कि चीन और पाकिस्तान की सेनाओं के बीच करीबी संबंध से दोनों देशों के बीच सदाबहार भागीदारी बरकरार रखने के साथ ही क्षेत्रीय शांति और वैश्विक स्थिरता बनाए रखने में मदद मिलेगी । चीन के पास दुनिया की सबसे बड़ी सेना है जिसमें 23 लाख सैनिक हैं। विशेषज्ञों के मुताबिक पिछले पांच साल में चीन से हुए हथियारों के कुल निर्यात का 41 प्रतिशत पाकिस्तान को हुआ है। चीनी सेना के प्रवक्ता कर्नल रेन गुओकियांग ने यहां मीडिया को संबोधित करते हुए कहा, '' चीन और पाकिस्तान के बीच सदाबहार भागीदारी है। हमने रक्षा आदान-प्रदान और सहयोग का बहुत उच्च स्तर पर बहाल रखा है। उन्होंने कहा, '' इसके साथ ही मैं पूरी तरह आश्वस्त हूं कि सैन्य सहयोग से हमारे देशों के संबंध को आगे बढ़ाने तथा क्षेत्रीय शांति और अंतरराष्ट्रीय स्थिरता बहाल रखने में भी मदद मिलेगी। गुओकियांग की टिप्पणी चीन की ओर से अनूठे सौदे में शक्तिशाली ट्रैकिंग सिस्टम की बिक्री की पृष्ठभूमि में आयी है ।