फंडिंग बिल खारिज होने पर US में शटडाउन, बेरोजगारी की कगार पर लाखों लोग

  • uploaded on : 2018-01-20 18:07:31
फंडिंग बिल खारिज होने पर US में शटडाउन, बेरोजगारी की कगार पर लाखों लोग
 

वाशिंगटन अमेरिकी सरकार बंदी की कगार पर आ खड़ी है। ट्रंप प्रशासन इस स्थिति से निपटने में जुटा हुआ है। पिछले पांच वर्षों में ऐसा पहली बार हो रहा है क्योंकि क्योंकि सीनेटर्स ने सदन द्वारा पारित फंडिंग बिल को खारिज कर दिया है। इसी बिल के जरिए सरकार को 16 फरवरी तक की फंडिंग सुनिश्चित थी। अमेरिकी सरकार इस वक्त आधिकारिक तौर पर बंदी का सामना कर रही है। शुक्रवार की रात को रिपब्लिकन द्वारा पेश किए गए बजट प्रस्ताव के पक्ष में समर्थन में ज्यादा वोट मिले, लेकिन वे पर्याप्त नहीं थे। बजट प्रस्ताव के समर्थन में 50 वोट पड़े बल्कि खिलाफ 48 वोट थे। लेकिन ये संख्या फंड को स्वीकार करने के लिए अपर्याप्त थी, जिन्हें 60 सीनेटर्स के समर्थन की आवश्यकता थी।
 समाचार एजेंसी एफपी के मुताबिक, 16 फरवरी तक सरकार को फंड देने के लिए एक समझौता रिपब्लिकन-नियंत्रित हाउस ऑफ रिप्रेजेंटेटिव द्वारा गुरुवार को पारित किया गया था, ताकि अंतिम बजट के लिए डेमोक्रेट्स और रिपब्लिकन के बीच बातचीत अवधि का विस्तार हो सके। हालांकि, डेमोक्रेट्स ने वित्तपोषण बिल को समर्थन देने के लिए ट्रंप प्रशासन के सामने 800,000 'ड्रीमर्स' के लिए शर्त रखी थी।
द गार्जियन' की रिपोर्ट के मुताबिक, संघीय कानून के मुताबिक यदि कांग्रेस ने उन्हें निधि देने के लिए पैसा नहीं दिया, तो एजेंसियों को बंद करना पड़ेगा। पिछले शटडाउन में होमलैंड सिक्योरिटी विभाग और एफबीआई के कामों को आवश्यक माना गया, इसलिए इनका काम जारी रहा था।  डेमोक्रेट सीनेटर राजनीतिक खतरे का उल्लेख करते हुए स्टॉपगैप स्पेंडिंग पर रोक लगा चुके हैं। इसके बाद शनिवार सुबह कई सरकारी दफ्तर आधिकारिक तौर पर बंद रहे।
हालांकि, दूसरी तरफ अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने दावा किया है कि अमेरिकी अर्थव्यवस्था शायद अब तक की सबसे अच्छी स्थिति में है और देश बेहतरीन काम कर रहा है। इस बड़े आर्थिक संकट के बाद अमेरिका के कई सरकारी विभाग बंद करने पड़ेंगे और लाखों कर्मचारियों को बिना सैलरी के घर बैठना होगा। शटडाउन पर व्हाइट हाउस की प्रेस सचिव साराह सैंडर्स ने कहा कि डेमोक्रट सांसदों ने राजनीति को राष्ट्रीय सुरक्षा और अमेरिकी हितों के ऊपर रखा है।
गौरतलब है कि जब भी शटडाउन होता है तो हजारों 'गैर-जरूरी' संघीय कर्मचारियों को छुट्टी पर भेज दिया जाता है, सिर्फ लोगों की सुरक्षा और राष्ट्रीय सुरक्षा में लगे 'जरूरी' कर्मी ही कार्यरत रहते हैं। 1995 के बाद से तीन बार ऐसी स्थिति आ चुकी है।
क्या होता है अमेरिकी शटडाउन
- अमेरिका में एंटीडेफिशिएंसी एक्ट लागू है।
- इस एक्ट के तहत अमेरिका में पैसे की कमी होने पर संघीय एजेंसियों को अपना कामकाज रोकना पड़ता है, यानि उन्हें छुट्टी पर भेज दिया जाता है।
- इस दौरान उन्हें वेतन भी नहीं दिया जाता।
- ऐसी स्थिति में सरकार संघीय बजट लाती है, जिसे प्रतिनिधि सभा और सीनेट, दोनों में पारित कराना जरूरी होता है।