जी-20 सम्मेलन: दस हजार लोगों का प्रदर्शन रोकने के लिए 20 हजार पुलिसकर्मी तैनात

  • uploaded on : 2017-07-07 10:00:10
जी-20 सम्मेलन: दस हजार लोगों का प्रदर्शन रोकने के लिए 20 हजार पुलिसकर्मी तैनात
 

हैम्बर्ग भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और विश्व की अन्य शीर्ष अर्थव्यवस्था वाले देशों के राष्ट्रप्रमुख शुक्रवार को जर्मनी के शहर हैम्बर्ग में दो दिवसीय जी-20 शिखर सम्मेलन के लिए एकत्र होंगे। इसमें आतंकवाद से मुकाबला, जलवायु परिवर्तन और विश्व व्यापार जैसे मुद्दे चर्चा के केंद्र में होंगे।
लेकिन पूंजीवादी व्यवस्था के खिलाफ दस हजार से अधिक प्रदर्शनकारी सम्मेलन के खिलाफ प्रदर्शन की तैयारी कर रहे हैं। प्रदर्शन को देखते हुए अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप हेलिकॉप्टर से पहुंचेंगे। पूरे यूरोप से पहुंचे इन प्रदर्शनकारियों ने अपने प्रदर्शन का नाम 'वेलकम टू हेल' (नर्क में स्वागत) रखा है।
पुलिस का मानना है कि आठ हजार लोग हिंसक प्रदर्शन कर सकते हैं। इस पर ध्यान रखने के लिए 20 हजार पुलिस अफसरों की तैनाती की गई है। बुधवार रात शहर में लग्जरी पोर्शे कार को आग लगा दी गई। प्रदर्शनकारियों का कहना है कि जी-20 विश्व शांति को खतरा पैदा करने वाले कई मसलों का हल नहीं कर पाया है। जलवायु परिवर्तन, बढ़ती असमानता, हिंसक संघर्ष जैसी समस्याएं जस की तस हैं।
जी-20 सम्मेलन: दस हजार लोगों का प्रदर्शन रोकने के लिए 20 हजार पुलिसकर्मी तैनात Publish Date:Fri, 07 Jul 2017 09:50 AM (IST) | Updated Date:Fri, 07 Jul 2017 09:50 AM (IST) जी-20 सम्मेलन: दस हजार लोगों का प्रदर्शन रोकने के लिए 20 हजार पुलिसकर्मी तैनातपुलिस का मानना है कि आठ हजार लोग हिंसक प्रदर्शन कर सकते हैं। इस पर ध्यान रखने के लिए 20 हजार पुलिस अफसरों की तैनाती की गई है। हैम्बर्ग, एजेंसी। भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और विश्व की अन्य शीर्ष अर्थव्यवस्था वाले देशों के राष्ट्रप्रमुख शुक्रवार को जर्मनी के शहर हैम्बर्ग में दो दिवसीय जी-20 शिखर सम्मेलन के लिए एकत्र होंगे। इसमें आतंकवाद से मुकाबला, जलवायु परिवर्तन और विश्व व्यापार जैसे मुद्दे चर्चा के केंद्र में होंगे। लेकिन पूंजीवादी व्यवस्था के खिलाफ दस हजार से अधिक प्रदर्शनकारी सम्मेलन के खिलाफ प्रदर्शन की तैयारी कर रहे हैं। प्रदर्शन को देखते हुए अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप हेलिकॉप्टर से पहुंचेंगे। पूरे यूरोप से पहुंचे इन प्रदर्शनकारियों ने अपने प्रदर्शन का नाम 'वेलकम टू हेल' (नर्क में स्वागत) रखा है। पुलिस का मानना है कि आठ हजार लोग हिंसक प्रदर्शन कर सकते हैं। इस पर ध्यान रखने के लिए 20 हजार पुलिस अफसरों की तैनाती की गई है। बुधवार रात शहर में लग्जरी पोर्शे कार को आग लगा दी गई। प्रदर्शनकारियों का कहना है कि जी-20 विश्व शांति को खतरा पैदा करने वाले कई मसलों का हल नहीं कर पाया है। जलवायु परिवर्तन, बढ़ती असमानता, हिंसक संघर्ष जैसी समस्याएं जस की तस हैं।